दिव्यांग प्रकोष्ठ – वार्षिक प्रतिवेदन 2017-18

सत्र 2016-17 में महाविद्यालय में दिव्यांग प्रकोष्ठ का गठन किया गया जो प्रति वर्ष महाविद्यालय में अध्ययनरत् नियमित दिव्यांग छात्र ध् छात्राओं की आवश्यकताओं की पूर्ति एवं समस्याओं के निराकरण के लिए प्रयासशील है। सत्र 2017-18 में प्रकोष्ठ द्वारा महाविद्यालय में कुल 14 दिव्यांग छात्रध्छात्राओं को चिन्हांकित किया गया।

– महाविद्यालय के 14 प्राध्यापकों ने इन 14 दिव्यांग छात्रध्छात्राओं को गोद लेकर उनके लिए शिक्षक अभिभावक का कर्त्तव्य निभाने का फैसला किया।

– महाविद्यालय के सभी नियमित प्राध्यापको ने स्वेच्छा से 500रू की राशि “दिव्यांग राहत कोष” के लिए जमा कर Corporation Bank में बचत खाता खोला गया। इस राशि का उपयोग दिव्यांग छात्रध्छात्राओं के शैक्षणिक प्रतियोगिता परीक्षाओं एवं मामूली चिकित्सा संबंधी समस्याओं के लिए नियमानुसार एवं समिति की सहमति से करने का फैसला लिया गया।

– दिव्यांग राहत कोष से MA 4 sem (Pol.Sc.) की कु. रितु साहू को रेलवे भर्ती परीक्षा के आवेदन फार्म की खरीदी हेतु 1500 रू प्रदान किये गये।

– MA 4 sem (Hindi) की कु. दिव्या मधुकर को PGDCA के परीक्षा फार्म हेतु 3000रू प्रदान किये गये।
ऽ दिव्यांग ग्रथालय के लिए भी छात्रध्छात्राओं से किताबों की सूची मॅांगी गयी तथा लगभग किताबें उपलब्ध एवं वितरित की गई।

– दिव्यांग प्रकोष्ठ द्वारा इन छात्र/छात्राओं को “चमकते सितारे” के नाम से नवाजा गया।

– दिनांक 01.12.2017 को “अतंराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस” के उपलक्ष्य में महाविद्यालय में प्रकोष्ठ द्वारा जिले के शासकीय एवं अशासकीय महाविद्यालय में अध्ययनरत् दिव्यांगजनों के लिए जिला स्तरीय प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में कुल 09 प्रतियोगिताओं में लगभग 15 छात्र/छात्राओं ने भाग लिया। कार्यक्रम में सभी दिव्यांग छात्र/छात्राओं, उनके अभिभावक तथा महाविद्यालय के भूतपूर्व दिव्यांग जनों तथा वर्तमान में महाविद्यालय में कार्यरत दिव्यांग शिक्षक एवं कर्मचारियों का भी सम्मान किया गया। कार्यक्रम में बिलासपुर वि.वि. के कुलपति माननीय प्रो.जी.डी.शर्मा मुख्य अतिथि रहे। समाज कल्याण विभाग की उपसंचालक श्रीमती मैथ्यू, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती आभा तिवारी तथा कोरबा के सुप्रसिद्ध गायक कलाकार श्री जाकिर हुसैन विशिष्ट अतिथि के रूम में उपस्थित थे। इस कार्यक्रम में असम वि.वि. के प्रो.-कुलपति डॉं. आर. के. शर्मा भी विशेष रूप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम में महाविद्यालय के बी.ए द्वितीय के दौलत शर्मा तथा MA 3 sem. Pol.Sc. की कु रितु साहू को महाविद्यालय के “YOUTH ICON” घोषित किया गया।

– महाविद्यालय के सभी दिव्यांग छात्र/छात्राओं के लिए शासन द्वारा प्रदत्त विभिन्न योजनाएॅं, Pension छात्रवृत्ति आदि की जानकारी उपलब्ध करायी गई। UDID हेतु आवेदन भी जमा किया गया।

– बिलासपुर वि.वि. के माननीय कुलपति महोदय से भी इन विशेष छात्रों को परीक्षा शुल्क वापसी तथा अन्य परीक्षा संबंधी हेतु प्रस्ताव भेजा गया।

– महाविद्यालय फरवरी में दिव्यांग प्रकोष्ठ के सदस्यों की छात्रों के साथ फोटो ग्रुपिंग भी करायी गई।

– महाविद्यालय फरवरी में इनको शैक्षणिक भ्रमण हेतु NTPC ले जाया गया जहॉ NTPC के CEO तथा अन्य उच्च अधिकारियों द्वारा सम्मान किया गया तथा प्रोत्साहन भी दिया गया।

– महाविद्यालय में 17 मार्च 2018 से TISS MUMBAI के साथ NUSSD का Flagship Programme का शुभारम्भ हुआ जिसमें दिव्यांग प्रकोष्ठ द्वारा TISS को दिव्यांग छात्रों के लिए पाठयक्रम में शामिल करने हेतु प्रस्ताव प्रेषित किया गया।

– बिलासपुर वि.वि. की वार्षिक परीक्षाओं की समाप्ति के पश्चात् दिव्यांग प्रकोष्ठ का प्रस्ताव है कि महाविद्यालय के दिव्यांग छात्र/छात्राओं के लिए Computer Basics and Internet तथा Spoken Skills in English की Summer Classes संचालित की जायेगी जो बिलासपुर वि.वि. के संयुक्त तत्वावधान एवं सहभागिता में संपन्न होगी।

– महाविद्यालय फरवरी में महाविद्यालय के वार्षिकोत्सव “उमंग 2018” के अतंर्गत आयोजित “आनंद मेला” में महाविद्यालय के 12 स्नातकोत्तर विभागो के साथ दिव्यांग छात्रों द्वारा “चमकते सितारो” का भी स्टाल लगाया गया जिसे सभी छात्र/छात्राओं, प्राध्यापको एवं अतिथियों द्वारा सराहा गया।

संयोजक
दिव्यांग प्रकोष्ठ